Search Study Material

Tuesday, 18 February 2020

List of UNESCO World Heritage Sites in India || भारत के यूनेस्को विश्व धरोहर स्थल PDF

UNESCO World Heritage Sites in India
यूनेस्को (UNESCO) का पूरा नाम संयुक्त राष्ट्र शैक्षिक, वैज्ञानिक एवं सांस्कृतिक संगठन (United Nations Educational Scientific and Cultural Organization)’ है। इसका  गठन 16 नवम्बर 1945 को हुआ था, इसका मुख्यालय पेरिस (फ्रांस) में है।  यूनेस्को संयुक्त राष्ट्र संघ का एक निकाय है, इसके 192 सदस्य देश, सात सहयोगी सदस्य देश और दो पर्यवेक्षक सदस्य देश हैं।


यूनेस्को (UNESCO) का उद्देश्य शिक्षा, प्रकृति तथा समाज विज्ञान, संस्कृति तथा संचार के माध्यम से अंतराष्ट्रीय शांति सहयोग से शांति एवं सुरक्षा की स्थापना करना है। केंद्रीय सांस्कृतिक मंत्रालय के अनुसार भारत में यूनेस्को के विश्व धरोहर स्थलों की कुल संख्या 38 है, जिनमें 30 सांस्कृतिक, 7 प्राकृतिक और 1 मिश्रित स्थल शामिल हैं।

यूनेस्को विश्व धरोहर स्थल की इस संधि में मुख्य रूप से 3 प्रकार के स्थल आते है-
प्राकृतिक धरोहर स्थल - ऐसी धरोहर भौतिक या भौगोलिक प्राकृतिक निर्माण का परिणाम या भौतिक और भौगोलिक दृष्टि से अत्यंत सुंदर या वैज्ञानिक महत्व की जगह या भौतिक और भौगोलिक महत्व वाली यह जगह किसी विलुप्ति के कगार पर खड़े जीव या वनस्पति का प्राकृतिक आवास हो सकती है।
सांस्कृतिक धरोहर स्थल - इस श्रेणी की धरोहर में स्मारक, स्थापत्य की इमारतें, मूर्तिकारी, चित्रकारी, स्थापत्य की झलक वाले, शिलालेख, गुफा आवास और वैश्विक महत्व वाले स्थान; इमारतों का समूह, अकेली इमारतें या आपस में संबद्ध इमारतों का समूह; स्थापत्य में किया मानव का काम या प्रकृति और मानव के संयुक्त प्रयास का प्रतिफल, जो कि ऐतिहासिक, सौंदर्य, जातीय, मानवविज्ञान या वैश्विक दृष्टि से महत्व की हो, शामिल की जाती हैं।
मिश्रित धरोहर स्थल - इस श्रेणी के अंतर्गत् वह धरोहर स्थल आते हैं जो कि प्राकृतिक और सांस्कृतिक दोनों ही रूपों में महत्वपूर्ण होती हैं।
चयन मानदंड :- सन 2004 के अंत तक, सांस्कृतिक धरोहर हेतु छः मानदण्ड थे और प्राकृतिक धरोहर हेतु चार मानदण्ड थे। सन 2005 में, इसे बदल कर कुल मिलाकर दस मानदण्ड बना दिये गये। किसी भी नामांकित स्थल को न्यूनतम एक मानदण्ड तो पूरा करना ही चाहिये।
सांस्कृतिक मानदंड
No.-1. मानव रचनात्मक प्रतिभा की उत्कृष्ट कृति का प्रतिनिधित्व करने के लिए।
No.-2. वास्तुकला या प्रौद्योगिकी, स्मारकीय कला, टाउन-प्लानिंग या लैंडस्केप डिज़ाइन के विकास पर, समय-समय पर या दुनिया के एक सांस्कृतिक क्षेत्र के भीतर, मानवीय मूल्यों का एक महत्वपूर्ण आदान-प्रदान प्रदर्शित करने के लिए।
No.-3. एक सांस्कृतिक परंपरा या एक सभ्यता जो जीवित है या जो गायब हो गई है के लिए एक अनोखी या कम से कम असाधारण साक्ष्य को सभालने के लिए।
No.-4. एक प्रकार की इमारत, वास्तुशिल्प या तकनीकी कलाओं का समूह या परिदृश्य का एक उत्कृष्ट उदाहरण होना चाहिए जो मानव इतिहास में महत्वपूर्ण चरणों को दर्शाता है।
No.-5. एक पारंपरिक मानव बस्ती, भूमि-उपयोग, या समुद्र-उपयोग का एक उत्कृष्ट उदाहरण होना चाहिए जो एक संस्कृति (या संस्कृतियों) का प्रतिनिधि है, या पर्यावरण के साथ मानव संपर्क खासकर जब यह अपरिवर्तनीय परिवर्तन के प्रभाव में असुरक्षित हो गया है।
No.-6. घटनाओं या जीवित परंपराओं, विचारों या विश्वासों, उत्कृष्ट सार्वभौमिक महत्व के कलात्मक और साहित्यिक कार्यों के साथ प्रत्यक्ष या वास्तविक रूप से जुड़ा हो।
प्राकृतिक मानदंड
No.-7. उत्कृष्ट प्राकृतिक घटनाओं या असाधारण प्राकृतिक सुंदरता और सौंदर्य महत्व के क्षेत्रों को समाहित करने के लिए।
No.-8. पृथ्वी के इतिहास के प्रमुख चरणों का प्रतिनिधित्व करने वाले उत्कृष्ट उदाहरण जिसमें जीवन का रिकॉर्ड, भू-आकृतियों के विकास में चल रही महत्वपूर्ण भूवैज्ञानिक प्रक्रियाओं, या महत्वपूर्ण भू-आकृति या भौतिक विशेषताओं के लिए।
No.-9. स्थलीय, ताजे पानी, तटीय तथा समुद्री पारिस्थितिक तंत्र और पौधों तथा जानवरों के समुदायों के उत्थान तथा विकास में चल रहे महत्वपूर्ण पारिस्थितिक और जैविक प्रक्रियाओं का प्रतिनिधित्व करने वाले उत्कृष्ट उदाहरण के लिए।
No.-10. जैविक विविधता के यथावत संरक्षण के लिए सबसे महत्वपूर्ण और सार्थक प्राकृतिक आवास शामिल करने के लिए, जिनमें विज्ञान या संरक्षण के दृष्टिकोण से उत्कृष्ट सार्वभौमिक मूल्य की खतरे वाली प्रजातियां शामिल हो।

यूनेस्को विश्व धरोहर स्थल एक ऐसा स्थान है जो संयुक्त राष्ट्र शैक्षणिक, वैज्ञानिक और सांस्कृतिक संगठन द्वारा विशेष सांस्कृतिक या भौतिक महत्व के रूप में सूचीबद्ध है।भारत में यूनेस्को की विश्व धरोहर स्थल की कुल संख्या 36 (1 मिश्रित, 7 प्राकृतिक और 28 सांस्कृतिक) है।आगरा, अजंता गुफाएं, एलोरा गुफाएं और ताजमहल 1983 में भारत में पहली चुनी गई यूनेस्को विरासत स्थल थीं।

क्रमांक
सांस्कृतिक स्थल
राज्य का नाम
साल
1
अजंता गुफाएँ
महाराष्ट्र
1983
2
आगरा का किला
आगराउत्तर प्रदेश
1983
3
ताज महल
आगराउत्तर प्रदेश
1983
4
एलोरा गुफाएं
महाराष्ट्र
1983
5
कोणार्क सूर्य मंदिर
ओडिशा
1984
6
महाबलिपुरम के स्मारक समुह
तमिलनाडु
1984
7
गोवा के गिरजाघर एवं कॉन्वेंट
गोवा
1986
8
हम्पी
कर्नाटक
1986
9
फतेहपुर सीकरी
उत्तर प्रदेश
1986
10
खजुराहो स्मारक समूह
मध्य प्रदेश
1986
11
एलिफेंटा की गुफ़ाएँ
महाराष्ट्र
1987
12
पत्तदकल
कर्नाटक
1987
13
महान चोल मंदिर
तमिलनाडु
1987
1. बृहदेश्वर मन्दिर
गंगैकोंडचोलपुरम
2.एयरवतेश्वर मंदिर
 दरासुरम 
3. बृहदेश्वर मन्दिर
तंजावुर
14
साँची के बौद्ध स्तूप
मध्य प्रदेश
1989
15
हुमायूँ का मकबरा
दिल्ली
1993
16
कुतुब मीनार
दिल्ली
1993
17
भारतीय पर्वतीय रेल
1.कालका शिमला रेलवेहिमाचल प्रदेश
1999
2.दार्जिलिंग हिमालयी रेलवे पश्चिम बंगाल
3.नीलगिरी माउंटेन रेलवे तमिलनाडु
18
बोधगया का महाबोधि विहार
बिहार
2002
19
भीमबेटका शैलाश्रय
मध्य प्रदेश
2003
20
चंपानेर-पावागढ़ पुरातत्व उद्यान
गुजरात
2004
21
छत्रपति शिवाजी टर्मिनस
महाराष्ट्र
2004
22
दिल्ली का लाल किला
दिल्ली
2007
23
जंतर मंतर, जयपुर
राजस्थान
2010
24
राजस्थान के पहाड़ी दुर्ग
1. चित्तौड़गढ़, राजस्थान
2013
2. कुम्भलगढ़ , राजस्थान
3. रणथम्भोर, राजस्थान
4. एम्बर , राजस्थान
5. जैसलमेर, राजस्थान
6. गैग्रॉन, राजस्थान
25
रानी की वाव
गुजरात
2014
26
नालन्दा 
बिहार
2016
27
ले कॉर्बूसियर का वास्तुकला
 चंडीगढ़
2016
28
अहमदाबाद का ऐतिहासिक शहर
गुजरात
2017


क्रमांक
प्राकृतिक स्थल
राज्य का नाम
साल
1
केवलादेव राष्ट्रीय उद्यान
राजस्थान
1985
2
काज़ीरंगा राष्ट्रीय उद्यान
असम
1985
3
मानस राष्ट्रीय उद्यान
असम
1985
4
सुंदरवन राष्ट्रीय उद्यान
पश्चिम बंगाल
1987
5
नन्दा देवी राष्ट्रीय उद्यान एवं फूलों की घाटी
उत्तराखण्ड
1988
6
पश्चिमी घाट
1. अग्रस्थमालाई (केरल, तमिलनाडु) 2012
2012
2.पेरियार (केरल)
3. अनामालाई (केरल, तमिलनाडु)
4. नीलगिरी (तमिलनाडु, केरल, कर्नाटक)
5. तालकावेरी (कर्नाटक)
6.कुदरेमुख (कर्नाटक)
7. सह्याद्री (केरल)
7
ग्रेट हिमालयन राष्ट्रीय उद्यान
हिमाचल प्रदेश
2014


दोस्तों आपके लिए Static GK के महत्वपूर्ण लिंक दे रहा हु जिनसे परीक्षा में प्रश्न पूछे जाने की सम्भावना ज्यादा है:-

No comments:

Post a comment